aditya

Just another Jagranjunction Blogs weblog

30 Posts

0 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 23513 postid : 1321938

ढाई दशकों में मानव विकास

Posted On: 30 Mar, 2017 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

आंकड़े यथार्त का सटीक वर्णन करते हैं । इसी बाबत हर क्षेत्र में अक्सर इन्हें सहेजने की प्रवृति देखी जाती है । देश-विदेश की कई एजेंसियां इस कार्य में संलग्न है । बात ताजा मानव विकास रिपोर्ट 2016 की करते हैं । 1990 में शुरू हुए गणना की इस पद्वति ने ढाई दशकों में मानवजीवन के उतार चढ़ाव को भली भांति देखा व दुनियां को दिखाया भी । इस समयांतर के दौरान दुनियां भर के मुल्कों में हालात बदले । प्राय सभी देशों में अनुकरणीय तरक्की अंकित की गई ।

बढ़ते शहरीकरण व भूमंडलीकरण ने लोगों की जीवनशैली में बदलाव लाकर उनके जीवन स्तर को सुधारा । हालांकि, हाशिये के लोगों पर इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ा । इस सूचकांक के मुताबिक , युद्ध व संघर्षों में लाखों मौतें और विस्थापन हुए । इसमें एजेंडा 2030 का गठन किया गया ,जिसमें करीबन 20 बड़े लक्ष्य निर्धारित किये गए । मानव विकास व सतत् पोषणीय विकास को तवज्जो दी गई । संयुक्त राष्ट्र व सदस्य देशों ने खास प्रतिबद्धता दिखाई । इन सब प्रयाशों से निहायत ही सकारात्मक परिवर्तन मिलने के आसार हैं ।

आदित्य शर्मा
adityasharma.dmk@gmail.com

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran